मंगलवार, 1 मई 2012

सबसे सस्ती दरों में पुस्तक प्रकाशन

देश-विदेश में बढ़ती प्रतिस्पर्धा के कारण सामान्य लेखकों का पुस्तक प्रकाशन कराना बहुत कठिन ही नहीं दुरूह कार्य है। बड़े लेखकों की पुस्तकें तो बड़े-बड़े पब्लिशर्स प्रकाशित ही नहीं करते वरन् उन्हें रॉयल्टी भी उपलब्ध कराते हैं। जिससे उन्हें व्यापक-प्रचार-प्रसार मिल जाता है। लेकिन उभरते हुए लेखकों, कवियों, कहानीकारों, व्यंग्यकार अपनी रचनाएं स्वयं लिखकर पुस्तक प्रकाशन की योजना बनाते हैं लेकिन इस महंगाई के युग में पुस्तक प्रकाशन कराना उन्हें कठिन प्रतीत होता है। राज (इंडिया) ग्रुप, भोपाल ने पुस्तक प्रकाशन की अभिनव योजना प्रस्तुत की है। योजना के तहत सम्मानीय लेखक, कवि अपनी रचनाओं को पुस्तक के रूप में सबसे सस्ती दरों में प्रकाशित करा सकता है। अधिक जानकारी के लिए आप Rajindiagroup@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं। राज इंडिया ग्रुप से पुस्तकें प्रकाशन करवाने के लिये कई रचनाकारों द्वारा लगातार संपर्क किया जा रहा है जिससे राज इंडिया ग्रुप की लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही है। लेखकों कवियों के लिए सामान्य नियम
सर्वप्रथम लेखक को अपनी पुस्तक की पांडुलिपि (मूल या फोटो कापी) राज इंडिया ग्रुप को प्रकाशन के लिये भेजनी होती है । जिसे प्रकाशन के विशेषज्ञों का दल देखता है तथा गुणवत्ता के आधार पर प्रकाशन हेतु स्वीकृति प्रदान करता है । राज इंडिया ग्रुप द्वारा पर पुस्तकों का प्रकाशन लागत मूल्य पर किया जाता है । यानी नो प्रोफिट, नो लॉस। राज इंडिया ग्रुप द्वारा उच्च गुणवत्ता के आधार पर पुस्तकों का प्रकाशन किया जाता है । प्रकाशन की प्रक्रिया में पुस्तक की कम्पोजिंग, डिजाइनिंग, आवरण आदि शामिल होता है। पुस्तक को तैयार कर लेखक के पास प्रूफ के साथ दो बार भेजा जाता है। तीसरी बार फाइनल प्रूफ भेजा जाता है। लेखक द्वारा अंतिम फाइनल स्वीकृति देने के बाद पुस्तक को प्रकाशित किया जाता है। पुस्तक के प्रकाशन के पश्चात उसके विमोचन, प्रचार आदि पर भी राज इंडिया ग्रुप द्वारा बेहतर कार्य किया जाता है । राज इंडिया ग्रुप द्वारा लगभग 200 से भी अधिक समाचार पत्रों, पत्रिकाओं, इंटरनेट पत्रिकाओं में पुस्तक की समीक्षा प्रकाशित करवाई जाती है । पुस्तक की समीक्षा विशेषज्ञों द्वारा लिखवाई जाती है । जिसे प्रकाशन के लिये भेजा जाता है । देश भर की सभी प्रमुख पत्र, पत्रिकाओं में राज इंडिया ग्रुप द्वारा प्रकाशित पुस्तकों की समीक्षा प्रमुखता के साथ प्रकाशित की जाती है । साथ ही विभिन्न पुरस्कारों के लिये भी राज इंडिया ग्रुप द्वारा अपने स्तर पर पुस्तकें भेजी जाती हैं । पुस्तक का प्रकाशन 90 जीएसएम के सेंचुरी कागज पर किया जाता है । प्रकाशन के दौरान प्रूफ की तीन बार जांच की जाती है तथा शुद्धता का पूरा ध्यान रखा जाता है । आवरण पृष्ठ हार्ड बाउंड में मल्टीकलर में तैयार किया जाता है जिस पर मेट फिनिश की जाती है । आवरण का डिजाइन विशेषज्ञों द्वारा तैयार किया जाता है । राज इंडिया ग्रुप को अपना ISBN नंबर मिला हुआ है । सभी पुस्तकों पर प्रकाशन का नंबर प्रकाशित किया जाता है । अधिक जानकारी के लिए आप Rajindiagroup@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें